Skip to main content

Posts

Featured

पादहस्तासन करने का सही तरीका और उसके फायदे ||The right way and the Benefits of Padahastasana

पादहस्तासन एक आगे झुकने का आसन है। यह आसन हठयोग प्रदीपिका के 12 मुख्य मुद्रा में से एक है। पादहस्तासन सूर्य नमस्कार की श्रृंखला का भी हिस्सा है। यह सूर्य नमस्कार के तीसरे आसन और दसवें आसन के रूप में आता है।         इस आसन का नाम संस्कृत भाषा से लिया गया है। "पाद" का अर्थ है "पैर", "हस्त" का अर्थ है "हाथ" और "आसन" जिसका अर्थ है "पोस्टर" मतलब है "हाथ और पैरों का आसन"।       हमारी मांसपेशियों, कण्डरा(Tendon), स्नायुबंधन(Ligaments), फासिआस(Fascias), और मूल रूप से पूरे सिस्टम (system)एक निष्क्रिय दिन के अंत में ध्यान देना चाहता है। कुर्सियों में बिताए हुए स्थिर जीवन से शरीर के अंग सख्त, तंग और बेजान हो जाते हैं। पादहस्तासन में खिंचाव के माध्यम से शारीरिक अंगों को शक्ति प्रदान करना हैं।       यह आपकी रीढ़ को लचीला बनाने में आपकी मदद कर सकता है जबकि आपकी पीठ, पैर और पेट को टोन करता है।  योग विशेषज्ञों द्वारा आसन की अत्यधिक अनुशंसा की जाती है, क्योंकि इसमें कई तरह के लाभ होते हैं। इसलिए पादहस्तासन और उससे होने वाले फायदों के

Latest posts

भुजंगासन करने का सही तरीका और उसके फायदे || Right way to do Bhujangasana and its benefits

सेतुबंधासन करने का सही तरीका और उसके फायदे

योग का इतिहास